समविभव पृष्ठ या रेखायें

समविभव पृष्ठ या रेखायें समविभव पृष्ठ वह पृष्ठ है जिसके प्रत्येक बिन्दु पर विभव समान रहता है। या किसी दिये गये आवेश वितरण के लिये, समान विभव वाले बिन्दुओं का बिन्दुपथ समविभव पृष्ठ कहलाता है। समविभव पृष्ठ से सम्बन्धित निम्न बिन्दु ध्यान रखें : 1. समविभव रेखाओं का घनत्व हमें विद्युत् क्षेत्र के परिमाण की […]

विद्युत विभव.| परिभाषा, मात्रक एवं विमाएँ

विद्युत विभव (Electric Potential) परिभाषा : अनन्त से इकाई धनावेश को विद्युत क्षेत्र में स्थित किसी बिन्दु तक लाने में जितना कार्य करना पड़ता है उसे उस बिन्दु का विद्युत विभव कहते हैं। (अनन्त पर विद्युत विभव शून्य माना जाता है){ विद्युत विभव एक अदिश राशि है। इसे ट से व्यक्त करते हैं। मात्रक एवं […]

विद्युत क्षेत्र

विद्युत क्षेत्र प्रत्येक आवेश अपने चारों ओर एक निश्चित क्षेत्र उत्पत्र करता है। यदि एक आवेश इसके नजदीक स्थित एक अन्य आवेश पर बल आरोपित करता है तो यह कहा जा सकता है कि ए के क्षेत्र में रखा हुआ है इसलिए यह बल का अनुभव करता है या Q1, Q2 के क्षेत्र में रखा […]

विद्युतदर्शी (Electroscope) क्या है

विद्युतदर्शी   यह एक सरल उपकरण है, जिसकी सहायता से किसी वस्तु पर आवेश की उपस्थिति को ज्ञात किया जाता है। जब एक आवेशित वस्तु को इसकी धात्विक घुण्डी (Knob) के सम्पर्क में लाते हैं तो कुछ आवेश स्वर्ण पतियों (Leaves) पर स्थानान्तरण हो जाता है, एवं प्रतिकर्षण के कारण ये पतियाँ फैल जाती हैं। […]